Difference Between Health and Fitness in Hindi

स्वास्थ्य और संतुलन का अवलोकन। यह लेख एक स्वस्थ शरीर और एक फिट शरीर (Health and Fitness in Hindi) के बीच अंतर बताता है। यह अंतर दृष्टि प्रदान करता है कि कैसे दोनों पक्षों को प्राप्त किया जा सकता है।

Health and Fitness in Hindi
Difference Between Health and Fitness

स्वास्थ्य और संतुलन का अवलोकन

यह बहुत खुशी की बात है कि मैं इस लेख स्वास्थ्य और संतुलन का अवलोकन को साझा करना चाहता हूं। दशकों से हम सुनते आ रहे हैं कि स्वस्थ शरीर को बनाए रखना हमारे लिए कितना जरूरी है। तंदुरूस्ती को स्वस्थ या शारीरिक संतुलन (Health and Fitness) माना जाता है।

हम इस तथ्य से अवगत हैं और फिट रहने की पूरी कोशिश करते हैं, लेकिन कभी-कभी यह पर्याप्त नहीं होता है। तो आज के युग में लोगों ने अपने फायदे के लिए विभिन्न तरीकों को अपनाने की कोशिश की है।

जैसा मैंने कहा, लोग पहले से बेहतर दिखना चाहते हैं। शुरुआत करने के लिए, आपको पता होना चाहिए कि स्वस्थ या फिट (Health and Fitness) का मतलब सिर्फ स्वस्थ से नहीं है। स्वस्थ रहने का मतलब किसी के लिए कोई बीमारी नहीं है। मेरे विचार से स्वास्थ्य और शारीरिक संतुलन (Health and Fitness) दोनों ही जीवन के महत्वपूर्ण पहलू हैं।

लोगों को स्वस्थ और संतुलित जीविन के लिए ये आवश्यक है। आजकल, शारीरिक संतुलन और स्वास्थ्य (Health and Fitness) लगभग अविभाज्य हैं क्योंकि हर कोई स्वस्थ रहना चाहता है। लेकिन वास्तव में स्वास्थ और शारीरिक संतुलन (Health and Fitness) में क्या अंतर है?

आइये समझते है

स्वास्थ्य (Health)

शारीरिक संतुलन (Fitness) 

1. स्वास्थ्य (Health)अन्तर्गत शारीरिक,मानसिक,भावनात्मक,और सामाजिक रहन-सहन शामिल है।

1.शारीरिक संतुलन(Fitness)में केवल  शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने की स्थिति है और यह स्वास्थ्य के सम्पूर्ण मापदंडो का केवल एक हिस्सा है।

2. स्वास्थ्य (Health) में शारीरिक और मानसिक दोनो विकार से मुक्त होता है। 2. लेकिन एक मानसिक रोगी भी शारीरिक रूप से संतुलित (Fitness)हो सकता है।
3. स्वस्थ (Healthy) रहना बहुत कठिन प्रक्रिया है। 3. संतुलित (Fitness) रहना सम्भव है।
4. स्वस्थ (Health) व्यक्ति सम्पूर्ण रुप से  सन्तुलित रहता है। 4. संतुलित (Fitness) रहने के लिए जरुरी नही की आप स्वस्थ भी हो।
5. स्वास्थ्य (Health) एक प्राकृतिक अव्यवस्था है। 5. संतुलित (Fitness) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के लिए भिन्न-भिन्न होती है।
6. स्वस्थ (Health) रहने के लिए कम से कम व्यवस्था हैं, जो बहुत कठिन होता है। 6. संतुलित(Fitness)  रहने के लिए अनेकों व्यवस्था का सहारा ले सकते है।
7. स्वास्थ्य (Health) को मापा नही जा
सकता क्योकि इसमे भावनात्मक और सामाजिक रहन-सहन सामिल है।
7. शरीरिक व्यायाम करने की क्षमता हमारे संतुलित (Fitness) स्तर को बढ़ाती है।
8. स्वास्थ्य (Health) प्राकृतिक से प्राप्त उपहार है। 8. संतुलित (Fitness) खुद के द्वारा रचित उपलब्धि है।
9. स्वस्थ (Health) अंदरुनी क्रिया हैं।  9. फिट (Fitness) बाहरी दिखावा है।
10. स्वास्थ्य (Health)अनुवांशिकी,पर्यावरण,रिश्ते,
प्रशिक्षण, जीवन शैली शरीरिक गतिविधि,आहार और सकारात्मक सोच पर निर्भर करता है।
10. संतुलित (Fitness),धीरज,शहनशक्ति, लचीलापन, गति,समन्वय,सटीकता, चंचलता आदि पर निर्भर करती है।

सबसे पहले, मैं समझता हूं कि स्वास्थ्य क्या है। मैं एक उदाहरण दूंगा। आपके शरीर की हर कोशिका को रक्त की आवश्यकता होती है। यदि आप सही भोजन नही करते हैं, असंतुलित और अपाच्य भोजन बहुत अधिक लेते हैं, तो रक्त का उत्पादन कम होगा।

इस प्रकार, यदि आप सही नहीं खाते हैं और बहुत अधिक असंतुलित और अपाच्य भोजन लेते हैं। जब आप काम के लंबे समय के बाद छुट्टी पर जाते है। आप मूल रूप से बहुत खाते हैं, येसे पदार्थ को भी अपने भोजन मे शामिल करते है जो आपके पाचन तंत्र को कमजोर करता है।

जो आपके स्वास्थ और शारीरिक संतुलन (Health and Fitness) को असंतुलित करता है साथ ही आप थकान से भी बीमार होने लगते हैं। आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) काम करना बंद कर देती है, और इससे हृदय रोग और अन्य बहुत सारे विकार उत्पन्न हो सकत हैं, जो आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता हैं।

स्वास्थ और शारीरिक संतुलनके बीच दूसरा बड़ा अंतर/Second Big difference Between Health and Fitness

स्वास्थ और शारीरिक संतुलन (Health and Fitness) के बीच दूसरा बड़ा अंतर यह है कि एक के बिना दूसरा फिट नहीं हो सकता। जैसा कि मैंने अभी कहा, यह कभी संभव नहीं हो सकता कि कोई स्वस्थ (Health) हुए बिना संतुलित (Fitness) रह सके और इसके विपरीत।

यही कारण है कि जब स्वास्थ्य और फिटनेस के बीच दूसरा बड़ा अंतर किसी व्यक्ति को दौड़ते हुए और जिम के कपड़े पहने हुए देखता है, तो आपको निम्नलिखित कारकों के बारे में सोचना चाहिए: व्यायाम उसे अपने लक्ष्य तक पहुंचने में क्यों मदद कर रहा है?

व्यायाम ही उसे इसे प्राप्त करने में कैसे मदद कर सकता है? ये प्रश्न महत्वपूर्ण हैं। वे आपको कसरत के फिटनेस पहलू के बारे में सही उत्तर चुनने में मदद करते हैं। फिर, एक और चीज जिसे फिट शरीर प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है, वह यह है कि शरीर को ऊर्जा की आवश्यकता होती है।

इस मामले में, सहनशक्ति प्रशिक्षण आपको इसे हासिल करने में मदद करता है। इतना ही नहीं, केवल सहनशक्ति ही आपको अधिक शक्ति तक पहुंचने और स्वतंत्र रूप से आगे बढ़ने में मदद करती है। अकेले धीरज से आप कई शारीरिक ऊंचाइयों तक पहुंच सकते हैं। 

जब आप इसकी तुलना अकेले सहनशक्ति से करते हैं, तो आप महसूस करते हैं कि ताकत, सहनशक्ति और आंदोलन के लचीलेपन के मामले में अकेले सहनशक्ति बहुत बड़ है।

अंत में, केवल सहनशक्ति ही आपको पूर्ण शारीरिक गतिशीलता तक पहुंचने में मदद करती है। ये सभी तीन बिंदु इस पूरी चर्चा के अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण बिंदु तक ले जाते हैं।

स्वास्थ और शारीरिक संतुलन के लिए पोषण क्या है ?What is Nutrition for Health and Fitness

पोषण क्या है ( What is nutrition ) पोषण वह कारक है जो स्वास्थ्य के बारे में बात करते समय बहुत आवश्यक है। शरीर के लिए पोषण के बिना, वास्तव में कोई रास्ता नहीं है कि मनुष्य का शरीर आजीवन स्वस्थ रह सके। स्वस्थ जीवन को बनाए रखने के लिए भोजन एक बुनियादी आवश्यकता है। 

विकासशील देशों में भी यह सच है। भारत, चीन और दक्षिण कोरिया जैसे विकासशील देशों को उच्च जनसंख्या दर के लिए जाना जाता है। जिसके कारण कई लोगों को भूख से जूझना पड़ रहा है. 

हालांकि, उचित पोषण के साथ, आपको आसानी से भूख पर काबू पाना होगा। प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम और विटामिन सी से भरपूर भोजन करना मानव शरीर के लिए पर्याप्त पोषक तत्वों का सेवन सुनिश्चित करता है, जिससे इष्टतम स्वास्थ्य प्राप्त होता है। य़ह है पोषण (That is nutrition)।

स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती के बीच एक और महत्वपूर्ण अंतर-Another Key Difference Between Health and Fitness

स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती (Health and Fitness)के बीच एक और महत्वपूर्ण अंतर यह है कि फिट शरीर को निरंतर गतिविधि की आवश्यकता होती है। जब कसरत की बात आती है, तो उन्हें निरंतर अभ्यास और जोरदार प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है। इसके विपरीत, यदि आप सप्ताह में कम से कम दो दिन प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं, खासकर यदि आप दवा ले रहे हैं, तो आप कमजोरी से पीड़ित हो सकते हैं।

तंदुरुस्ती का यह पहलू अस्वस्थ दिखने की ओर ले जाता है और अंततः बीमारी का कारण बन सकता है। जब किसी व्यक्ति का शरीर कमजोर और सुस्त महसूस करता है और अच्छी तरह से व्यायाम नहीं कर पाता है, तो वह या तो कमजोर या अयोग्य होता है। 

मेरे विचार से स्वस्थ गतिविधियाँ वे हैं जो शरीर को मजबूत बनाने और उसकी कार्यक्षमता में सुधार करने में मदद करती हैं। कोई भी गतिविधि जो आदमी में अधिक मांसपेशी द्रव्यमान कम करती है, वसा शरीर द्रव्यमान को कम करती है और मानसिक सतर्कता बढ़ाती है, वह फिट नहीं है।

स्वस्थ क्रियाएँ वे हैं जो हमारे शरीर को मजबूत बनाती हैं। और वे हमारे शारीरिक रूप में सुधार के लिए हमेशा उपयुक्त होते हैं। उचित पोषण और नियमित व्यायाम से आप स्वस्थ्य और संतुलित शरीर (Health and Fitness) प्राप्त कर सकते हैं।

सारांश

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या सोचते हैं, वे वास्तव में एक अत्यंत शक्तिशाली संयोजन हैं। आजीवन स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए  स्वस्थ्य और संतुलन शरीर (Health and Fitness) दोनों आवश्यक हैं क्योंकि वे विकास के लिए अति आवश्यक (necessary) हैं।

आपका मंगल हो, प्रभु कल्याण करे

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने